अक्टूबर 2007 के लिए पुरालेख

>महानायक – कुमार मुकुल

अक्टूबर 10, 2007

>करिश्‍मैटिक है उसका व्‍यक्तित्‍व
एक साथ एक ही समय वह
अपने महान पिता की अर्थी को
कंधा देते
और अपने बेटे के साथ
वैगन-आर के प्रचार में
ठुमका देते दिखाई देता है
उसके पुतले बनते हैं
देवताओं की तरह
पूजा होती है
और नाकारा देवताओं की
लंबी लिस्‍ट में
शामिल कर लिया जाता है
उसे भी एक दिन।

Advertisements